Friday, January 18, 2019

ये 8 चीजें है प्रोटीन का खजाना

ये 8 चीजें है प्रोटीन का खजाना, कुछ दिनों तक खाएंगे रोजाना तो शरीर बन जायेगा फौलादी



प्रोटीन हमारे शरीर के लिए बेहद महत्त्वपूर्ण तत्व होता है, पानी के बाद अगर शरीर को किसी चीज की जरूरत होती है तो वो प्रोटीन है, हड्डियों, खून और मसल्स के लिए प्रोटीन सबसे ज्यादा जरूरी है, इसीलिए आज हम आपको ऐसी 8 चीजों के बारे में बताने वाले हैं, जिन्हें प्रोटीन का खजाना कहा जाता है, अगर आप इन्हें रोजाना सेवन करेंगे तो कुछ ही दिनों में आपका शरीर फौलादी बन जायेगा।

मूंग की दाल

मूंग की दाल में प्रोटीन कार्बोहाड्रेट्स और फॉस्फोरस मौजूद होते हैं, इससे एनिमिया जैसे रोग से बचा जा सकता हैं, इसके नियमित सेवन से स्टेमिना भी बढ़ता है।

काबुली चना

काबुली चना अंकुरित करके खाने से सबसे ज्यादा फायदा मिलता है, यह किडनी को स्वस्थ रखने में मददगार होती है

तिल

तिल भी प्रोटीन का खजाना माना जाता है, 100 ग्राम तिल में 26 ग्राम प्रोटीन होता है, तिल का सेवन त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है, ये कोलेस्ट्रोल को कम करता है, जिससे दिल स्वस्थ रहता है

चने की दाल

चने की दाल में कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन, आयरन और फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है, इसका सेवन पाचन शक्ति को बेहतर बनाता है और चेहरे में निखार भी लाता है।

पनीर

पनीर में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन बी2, बी12 और विटामिन डी मौजूद होते हैं, ये दांतों की समस्या, हड्डियों को मज़बूत बनाने में और तनाव को कम करने में बहुत ही फ़ायदेमंद है।

मूंगफली

मूंगफली प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंड, खनिज और विटामिन से भरपूर होता है, मूंगफली हमारे शरीर को मज़बूत बनाने में बहुत लाभदायक है और साथ ही पाचन क्रिया को भी बेहतर बनाता है, 100 ग्राम मूंगफली में 25 प्रोटीन की मात्रा पाई जाती है।

राजमा

राजमा में प्रोटीन के साथ-साथ मैग्नीशियम, कोर्बोहाइड्रेट, फ़ॉस्फ़ोरस, और आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है, ये दिमाग़ को सक्रिय बनाता है और बालों के टूटने की समस्या से भी बचाता है।

सोयाबीन

सोयाबीन में दूध,अंडे और मांस से भी ज़्यादा मात्रा में प्रोटीन होती है, इसके सेवन से हम एनीमिया, शुगर, उच्च रक्तचाप, हड्डियों और त्वचा की बीमारियों से बच सकते है, 100 ग्राम सोयाबीन में 39 ग्राम प्रोटीन की मात्रा होती है।

तो दोस्तो आपको मेरा ये पोस्ट कैसा लगा मुझे कॉमेंट करें और अपना महत्वपूर्ण फीडबैक दें।


No comments:

Post a Comment